Saturday, May 18, 2024
featuredदेश

राजनाथ सिंह कैबिनेट में नंबर 2 पर होने पर भी पार्टी में नहीं मिलता दिख रहा वो रुतबा

SI News Today

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह नरेंद्र मोदी कैबिनेट में पदानुक्रम दूसरे नंबर पर आते हैं। इस लिहाज से राजनाथ सिंह कैबिनेट में पीएम मोदी के बाद दूसरे सबसे ताकतवर शख्स हैं। हालांकि दुर्भाग्य की बात है कि राजनाथ सिंह के दूसरे नंबर का होने का उन्हें पार्टी में कोई फायदा नहीं मिला रहा है। कूमी कपूर (Coomi Kapoor) ने अपने कॉलम में इसी तरह के दो वाक्ये का जिक्र किया। कॉलम के मुताबिक पिछली बार हुई बीजेपी की संसदीय बोर्ड की बैठक में नरेंद्र मोदी की गैर-मौजूदगी में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। मीटिंग के दौरान पीएम मोदी दिल्ली से बाहर गए हुए थे। बीजेपी पार्लियामेंट्री मीटिंग की अध्यक्षता करने वाले का मौका शाह को मिला जबकि वह संसद सदस्य भी नहीं है।
ऐसा ही एक और वाक्या देखने को मिला ओडिशा में। हाल ही में भुवनेश्वर में सम्पन्न हुई बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में केवल चार लोग मंच पर विराजमान थे। इन चार लोगों में शामिल थे- पीएम नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, राज्यसभा में सत्ता पक्ष के नेता और वित्त मंत्री अरुण जेटली तथा लालकृष्ण आडवाणी। बता दें कि राजनाथ सिंह आरएसएस के भरोसे के लोगों में शुमार किए जाते हैं और वह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी रह चुके हैं।
इन दिनों बीजेपी के पीएम इन वेटिंग लालकृष्ण आडवाणी का भी कुछ ऐसा ही हाल है। आडवाणी इस बात से परेशान है कि उनकी पार्टी में बहुत से लोगों का मानना है कि बुजुर्ग लोगों को रिटायर होने की जरुरत है। हालांकि 89 साल की उम्र में आडवाणी का दिमाग हमेशा की तरह तेज चलता है। यही नहीं ठीक उसकी प्रकार उनके अंदर काम करने की क्षमता भी है। उन्हें एक न्यूजमैन समझा जाता है। आडवाणी निश्चित रूप से राजनीति में अपने समकालीन लोगों के मुकाबले सबसे सतर्क और सक्रिय हैं। हाल ही इंडियन फाउंडेशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम के दौरान आडवाणी ने बांग्लादेश की प्रधामंत्री शेख हसीना का अभिनंदन करते हुए अपने सिंध प्रेम को बयां किया था। उन्होंने कहा था कि सिंध के भारत का हिस्सा नहीं होने का दुख है। आडवाणी ने कहा कि मेरी इच्छा है कि दिल्ली और इस्लामाबाद के बीच संबंध सुधरें। कराची का नाम लेते हुए उन्होंने कहा कि जहां मेरा जन्म हुआ था, अब वह भारत का हिस्सा नहीं है।

SI News Today

Leave a Reply