Sunday, April 14, 2024
featuredदेश

राष्‍ट्रपति चुनाव: समर्थन मांगने दक्षिणी राज्‍यों के दौरे पर रामनाथ कोविंद

SI News Today

सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद शनिवार को तमिलनाडु पहुंचे और 17 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए राजनीतिक दलों से समर्थन मांगा। कोविंद की भाजपा नेताओं ने हवाईअड्डे पर अगवानी की। उन्होंने तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री ओ.पन्नीरसेल्वम से मुलाकात की और उनके गुट के विधायकों का समर्थन मांगा। वह मुख्यमंत्री के.पलनीस्वामी से भी मुलाकात करेंगे और उनके गुट का समर्थन मांगेंगे।

इस दौरान कोविंद ने पुडुचेरी के पूर्व मुख्यमंत्री एन.रंगास्वामी से भी मुलाकात की। तमिलनाडु में सत्ताधारी ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) तीन गुटों में विभाजित है, जिनमें एक की कमान पलनीस्वामी तो दूसरे की कमान पन्नीरसेल्वम तथा तीसरे की कमान पार्टी के उपमहासचिव टी.टी.वी.दिनाकरन के हाथ में है।

वहीं कांग्रेस सहित 17 विपक्ष विपक्षी पार्टियों की राष्ट्रपति उम्मीदवार मीरा कुमार ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्हें दुख इस बात कि है कि राष्ट्र प्रमुख के लिए चुनाव ‘दलित बनाम दलित’ के मुद्दे पर लड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा, “कुछ हद तक मुझे खुशी इस बात की है कि सर्वोच्च संवैधानिक पद के लिए एक दलित को मौका देने पर विचार किया गया, लेकिन मैं चिंतित भी हूं कि साल 2017 में हमारा आंकलन जाति के आधार पर किया जा रहा है।”

मीरा कुमार ने कहा, “अतीत में, अगड़ी जाति के कई नेता राष्ट्रपति चुनाव लड़ चुके हैं, लेकिन उनकी जाति का मुद्दा कभी नहीं उठा।”

जवाहरलाल नेहरू के मंत्रिमंडल में सबसे युवा मंत्री रहे बाबू जगजीवन राम की बेटी मीरा कुमार ने कहा कि इस मानसिकता की आलोचना की जानी चाहिए। उन्होंने कहा, “अगर इस तरह का चुनाव नस्लीय आधार पर दुनिया के किसी भी हिस्से में होता, तो हम उसकी आलोचना करते। हमें अपने देश में ऐसा होने के लिए भी इसकी आलोचना करनी चाहिए।”

मीरा कुमार ने संवाददाताओं से कहा कि राजग के उम्मीदवार दलित नेता रामनाथ कोविंद से उनकी लड़ाई विचारधारा की है, उन्हें उस विचारधारा से लड़ना है, जिसने अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी को हिंसा का शिकार बनाया। संप्रग की उम्मीदवार ने कहा कि उन्होंने इलेक्टोरेट के प्रत्येक सदस्य को पत्र लिखा और उनसे मतदान के लिए अपनी ‘अंतरात्मा की आवाज’ सुनने की अपील की।

SI News Today

Leave a Reply