Monday, February 26, 2024
featuredदेश

16 महीने की BJP सरकार पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप…

SI News Today

16 महीने की असम में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार सवालों के घेरे में है। दरअसल पार्टी सांसद राम प्रसाद शर्मा ने बुधवार (4 अक्टूबर) को एक स्थानीय टीवी चैनल को दिए साक्षात्कार में राज्य के सिंचाई और हथकरघा मंत्री रंजीत दत्ता पर आरोप लगाया कि वो ठेकेदारों से ठेका देने के एवज में दस फीसदी रिश्वत लेते हैं। इतना ही नहीं राज्य कुछ और मंत्री भी कम से कम दस फीसदी रिश्वत लेते हैं। सोशल मीडिया में वीडियो वायरल होने पर मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने सांसद से सबूतों के साथ अपने दावे को पेश करने को कहा है। साथ कहा कि सांसद के खिलाफ ऐसे सबूत मिले तो वो उनके खिलाफ भी सख्त एक्शन लेंगे।

सीएम सोनेवाल ने कहा, ‘हमारी सरकार भ्रष्टाचार को कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। उनके पास कोई सबूत है तो दिखाए हम उनके खिलाफ सख्त एक्शन लेंगे। हम भ्रष्टाचार के साथ समझौता नहीं करेंगे। यहां तक अगर सूबे के सीएम के खिलाफ भी कोई सबूत है तो वो इसके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई करेंगे।’ गौरतलब है कि ने सांसद शर्मा ने बीते मंगलवार को एक स्थानीय न्यूज चैनल से कहा था कि राज्य के कुछ मंत्री रिश्वत लेते हैं। इनमें से रंजीत दत्ता पर उन्हें पूरी जानकारी है कि वो रिश्वत लेते हैं। खुद मेरे एक परिचित ने उन्हें दस फीसदी रिश्वत देकर ठेका हासिल किया था। राज्य में कुछ और भी मंत्री हैं जो रिश्वत लेते हैं। हालांकि मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल भ्रष्ट नहीं हैं, उन्हें आरोपों की जांच अवश्य करानी चाहिए। हम जनता से सरकार में भ्रष्टाचार मुक्त सरकार चलाने का वादा करके आए हैं।

गौरतलब है कि राज्यमंत्री दत्ता सूबे में जिस विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं वो सांसद आरपी शर्मा के लोकसभा क्षेत्र तेजपुर में आती है। दूसरी तरफ दत्ता ने सभी आरोपों को निराधार बताया है। उन्होंने कहा है कि बिना तथ्यों के बयान देना सांसद की आदत है। उनके इस बयान ने पार्टी और सरकार की छवि को प्रभावित किया है। मैं उनके खिलाफ पहले ही भाजपा राज्य इकाई में शिकायत दर्ज करवा चुका हूं। उन्होंने मेरे खिलाफ झूठे और निराधार आरोप लगाए हैं। मुझे पूरा भरोसा है कि पार्टी उनके खिलाफ सख्त एक्शन लेगी।

SI News Today

Leave a Reply