Saturday, January 28, 2023
featuredउत्तर प्रदेशदेशराज्य

CM योगी ने पहले दिन लिए तीन बड़े फैसले, रोज़ दो घंटे सफाई करेंगे अफसर

SI News Today

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने पहले दिन कुर्सी संभालते ही सोमवार को सभी प्रमुख अफसरों को तलब कर प्रदेश की स्थिति का जायजा लिया और कई महत्वपूर्ण आदेश भी जारी कर दिए.

योगी ने सभी अफसरों से 15 दिन के भीतर संपत्ति का ब्यौरा मांगा है. इसके अलावा उन्होंने यूपी पुलिस के डीजीपी जावीद अहमद को तलब कर उनसे 15 दिनों के अंदर बेहतर पुलिसिंग के लिए ब्लूप्रिंट मांगा है.

1. 15 दिन में अफसर दें संपत्ति का ब्यौरा:

सीएम योगी ने साफ़ कर दिया है कि मंत्रियों की ही तरफ हर अफसर को 15 दिनों के भीतर अपनी चल-अचल संपत्ति का पूरा ब्यौरा देना होगा. उन्होंने साफ़ कर दिया है कि वे वीआईपी कल्चर और भ्रष्टाचार को बिलकुल बर्दाश्त नहीं करेंगे. इससे पहले रविवार को कैबिनेट की पहली बैठक में योगी ने मंत्रियों से आय और संपत्ति का ब्यौरा मांगा था. उन्होंने मंत्रियों के लाल बत्ती के प्रयोग पर भी रोक लगा दी है.

योगी के मुताबिक अब यूपी की इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट पॉलिसी बेहतर की जाएगी. सीएम ने कहा कि तहसील और थानों में किसी भी तरह का राजनीतिक दबाव नहीं होना चाहिए, जीरो टॉलरेंस होना चाहिए. इसके आलावा महिलाओं के प्रति अधिकारी अपना रुख बदलें.

2. स्वच्छता अभियान के लिए दिलाई शपथ:

सोमवार को योगी पहली बार लोक भवन में अपने दफ्तर पहुंचे. उन्होंने सभी विभागों के प्रधान सचिवों के साथ भी मीटिंग की. योगी ने सपष्ट कर दिया है कि अफसरों को BJP के संकल्प पत्र के अनुसार काम करना होगा. उन्होंने मीटिंग में मौजूद सभी अधिकारियों को सफलता की शपथ भी दिलाई. इस शपथ के मुताबिक अफसरों को हर साल 100 घंटे जबकि रोज़ 2 घंटे सफाई के लिए अपना श्रमदान देना होगा.

3. डीजीपी को तलब कर मांगा ब्लूप्रिंट

योगी ने सोमवार को ही यूपी पुलिस के डीजीपी जावीद अहमद से भी मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने BSP नेता की हत्या पर चिंता जताते हुए पुलिस प्रमुख से राज्य में बेहतर कानून-व्यवस्था स्थापित करने का निर्देश दिया. योगी ने जावीद से प्रदेश के सभी जिलों के पुलिस अधिकारियों से बात करके 15 दिन के अंदर राज्य में पुलिस व्यवस्था सुधारने का ब्लूप्रिंट तैयार करने को कहा है.

बता दें कि आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण के बाद रविवार रात में ही इलाहाबाद में 60 वर्षीय BSP नेता मोहम्मद शमी की हत्या कर दी गई थी. शमी को उनके घर के सामने ही बदमाशों ने गोली मारी थी.

कत्लखानों पर भी कार्रवाई होना शुरू

योगी की सरकार बनते ही कत्लखानों पर गाज गिरनी शुरू हो गई है. रविवार को रात में इलाहाबाद के अटाले इलाके में तीन कत्लखानों को सीज कर दिए जाने की खबर है.

SI News Today

Leave a Reply