Saturday, May 25, 2024
featuredदेशराज्य

J&K: पीएम की रैली में सुरक्षा का तीसरा घेरा सेना के हवाले, ड्रोन से होगी निगरानी

SI News Today

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रैली के लिए सुरक्षा के ऐसे पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं कि परिंदे के लिए भी पर मारना आसान नहीं होगा। चूंकि उधमपुर में रैली स्थल के पास ही सेना की उत्तरी कमान का मुख्यालय भी है लिहाजा सुरक्षा व्यवस्था के क्रम में खास एहतियात बरती जा रही है। उधमपुर आतंकी हमलों के दृष्टिकोण से भी संवेदनशील रहा है।

नगरोटा में सैन्य शिविर पर कुछ महीने पहले ही आतंकी हमला हो चुका है और पाकिस्तानी आतंकी नावेद ने भी इस इलाके में ठिकाना बनाया था। लिहाजा सुरक्षा के तीसरे घेरे में सेना को तैनात करने का निर्णय लिया गया है। एशिया की सबसे बड़ी टनल चिनैनी -नाशरी का उद्घाटन करने मोदी 2 अप्रैल को आने वाले हैं।

दौरे से चार दिन पहले से ही चिनैनी के जंगलों की ड्रोन से निगरानी शुरू कर दी गई है। दो अप्रैल को भी रैली स्थल और उद्घाटन स्थल की निगरानी लगातार ड्रोन से होगी। उद्घाटन के लिए पीएम 5 किलोमीटर की दूरी सड़क मार्ग से तय करेंगे, लिहाजा वीरवार को ही इस दायरे को पूरी तरह सील कर तलाशी अभियान तेज कर दिया गया है।

‘अलगाववादियों की हड़ताल होगी बेअसर’

शासन के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक पीएम की सुरक्षा के पहले घेरे में एसपीजी होगी। दूसरे घेरे में सुरक्षा की जिम्मेदारी राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के जवानों के जिम्मे है। तीसरे घेरे में सेना, चौथे में सीआरपीएफ को तैनात किया जाएगा। सुरक्षा के पांचवें घेरे में जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवान तैनात होंगे। कंट्रोल रुम से रैली स्थल और टनल की हर मिनट जानकारी ली जा रही है।

पीएमओ में राज्य मंत्री डा. जितेन्द्र सिंह ने कहा कि पीएम दौरे से जम्मू-कश्मीर के विकास की गति तेज होगी। पीएम मोदी ने रियासत को 80 हजार करोड़ का पैकेज दिया है। पैकेज को धरातल पर उतारने के लिए लगातार समीक्षा कर रहे हैं। चिनैनी-नाशरी टनल के चालू होने से पर्यटन का भी विकास होगा।

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एस पी वैद ने अमर उजाला से कहा कि पीएम के दौरे के दिन अलगाववादियों के बंद और हड़ताल के आह्वान का कोई असर नहीं होगा। अलगाववादी पीएम दौरे पर हर बार ऐसे आयोजन करते हैं।

SI News Today

Leave a Reply