Friday, February 23, 2024
featuredदिल्ली

पिता ने लगाई हाई कोर्ट से गुहार, बेटा रोज पीटता और धमकाता है…

SI News Today

अपने बेटे के हाथों प्रताड़ित होने और पीटने से आहत एक बुजुर्ग को आत्म सम्मानित और गरिमा पूर्ण जीवन के लिए दिल्ली उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाना पड़ा। अदालत ने पुलिस को न सिर्फ उनकी सुरक्षा करने को कहा बल्कि बुजुर्ग से एसओएस (सेव आॅर सॉल्स) मिलने पर त्वरित प्रतिक्रिया देने के भी निर्देश दिए। राजवीर शर्मा (66) अपने घर में अपनी 65 वर्षीय पत्नी और दो बेटों के साथ रहते हैं। उनके एक बेटे को शराब की लत है और वह उन्हें अपशब्द कहता है, पीटता है, धमकी देता है और उनसे पैसों की मांग करता है। लिहाजा बुजुर्ग व्यक्ति के पास अदालत की शरण में जाने के सिवाए उनके पास कोई विकल्प नहीं था।

न्यायमूर्ति आशुतोष कुमार की एक पीठ ने इस तथ्य पर विचार किया कि बुजुर्ग व्यक्ति अपने आरोपी बेटे के साथ एक ही घर में रहते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘संबंधित थाने के एसएचओ को निर्देश दिए जाते हैं कि याची की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाएं जो बुजुर्ग व्यक्ति हैं।’’ अदालत ने निर्देश दिया कि उक्त उद्देश्य के लिए याची (पिता) थाने में तैनात दो पुलिस अधिकारियों के फोन नम्बर ले सकते हैं। याचिकाकर्ता की ओर से एसओएस कॉल आने पर यह उम्मीद की जाती है कि उक्त दो अधिकारी तेजी से और फौरन प्रतिक्रिया देंगे।

दिल्ली पुलिस ने अदालत को सूचित किया कि उनके बेटे को पछतावा है और उसने आश्वासन दिया है कि वह उनसे सही तरीके से पेश आएगा। पुलिस के अनुसार, 22 वर्षीय शराबी पुत्र ने वायदा किया है कि वह खुद को सुधारेगा और अपने पिता को तंग नहीं करेगा। शर्मा ने वकील अमित कुमार की ओर से दायर याचिका में कहा था कि उन्हें और उनकी बीमार पत्नी को शांति, गरिमा और आत्मसम्मान से रहने देने की इजाजत दी जाए। उन्होंने आरोप लगाया था कि उनके बेटे ने उनकी जिंदगी को नरक बना दिया है।

डरे और सहमे बुजुर्ग व्यक्ति ने दो अगस्त को पश्चिम दिल्ली के विजय विहार थाने में शिकायत दर्ज कराई थी और 17 अगस्त को पीसीआर वैन को फोन भी किया था। हालांकि, पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर पाई थी। याचिका में कहा गया था कि याचिकाकर्ता को इस वृद्धावस्था में रिठाला की एक निजी कंपनी में मजदूरी करनी पड़ रही है ताकि वह अपना और अपनी पत्नी का गुजारा कर सके। दोनों बेटों में से कोई भी उनकी मदद नहीं करता।

SI News Today

Leave a Reply