Tuesday, February 27, 2024
featuredदिल्ली

सामने आई हनीप्रीत, कहा- राम रहीम ही मेरे पिता….

SI News Today

नई दिल्‍ली: दिल्‍ली हाईकोर्ट में हनीप्रीत की अग्रिम जमानत याचिका पर मंगलवार को सुनवाई होनी है. इससे पहले हनीप्रीत के वकील प्रदीप कुमार आर्य ने सोमवार को हाईकोर्ट में हनीप्रीत को अग्रिम जमानत देने के लिए याचिका दायर की थी. हनीप्रीत के वकील की तरफ से दी गई अग्रिम जमानत याचिका की कॉपी जी न्‍यूज के पास है. इस याचिका में हनीप्रीत ने राम रहीम को अपना पिता बताया है. उसने कहा कि मीडिया और कुछ लोगों ने मेरे और पिता के रिश्‍तों को गलत तरीके से दिखाया है. साथ ही मीडिया पर अपनी छवि खराब करने का आरोप भी लगाया. मैं अपने पिता का बहुत सम्‍मान करती हूं.

अदालत में हनीप्रीत की तरफ से दाखिल याचिका में लिखा है हरियाणा पुलिस मुझे सिर्फ परेशान करना चाहती है. याचिका में लिखा है कि मैं जांच में पूरी तरह से सहयोग करने के लिए तैयार हूं. उसने यह भी कहा कि मुझे जब अदालत में बुलाया जाएगा, मैं तभी आने के लिए तैयार हूं. उसने याचिका में अदालत से गुहार लगाई कि सामने आने पर राम रहीम के दुश्‍मन उसे मरवा देंगे.

इससे पहले पंचकूला पुलिस ने मंगलवार सुबह हनीप्रीत की तलाश में दिल्‍ली के ग्रेटर कैलाश-2 स्थित एक घर में भी छापेमारी की. पुलिस को जानकारी मिली थी कि हनीप्रीत इस घर में छिपी हुई है. हालांकि पुलिस को यहां पर भी कामयाबी नहीं मिल पाई और पुलिस खाली हाथ लौट गई. आपको बता दें कि डेरा प्रमुख राम रहीम को बलात्कार के दो मामलों में दोषी ठहराए जाने के बाद से फरार चल रही हनीप्रीत इंसां ने अंतरिम अग्रिम जमानत की मांग को लेकर सोमवार को दिल्ली उच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी.

यह जानकारी हनीप्रीत के वकील ने दी. जेल में बंद डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह की दत्तक पुत्री प्रियंका तनेजा उर्फ हनीप्रीत उन 43 लोगों की सूची में शीर्ष पर है जिनकी हरियाणा पुलिस को राम रहीम को दोषी ठहराने जाने के बाद हुई हिंसा की घटनाओं के संबंध में तलाश है. इससे पहले पुलिस ने हनीप्रीत के खिलाफ एक लुकआउट नोटिस जारी किया था.

हनीप्रीत के वकील प्रदीप कुमार आर्य ने बताया कि उन्होंने दिल्ली उच्च न्यायालय में अग्रिम जमानत के लिए याचिका दायर की है. आर्य ने बताया कि मामले को जल्दी सुनवायी के लिए मंगलवार को कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल के नेतृत्व वाली पीठ के समक्ष उल्लेखित किया जाएगा.

राम रहीम को पंचकूला की एक विशेष सीबीआई अदालत ने 25 अगस्त को दोषी ठहराया था. उसके बाद हरियाणा के पंचकूला और सिरसा जिलों में हिंसा और आगजनी हुई थी जिसमें 41 लोग मारे गए थे और कई अन्य घायल हो गए थे. सीबीआई अदालत ने 28 अगस्त को राम रहीम को 2002 में साध्वियों से बलात्कार करने के लिए 20 वर्ष की सजा सुनायी थी.

हनीप्रीत 25 अगस्त को राम रहीम के साथ विशेष सीबीआई अदालत गई थी. राम रहीम को दोषी ठहराये जाने के बाद हनीप्रीत उसके साथ उस विशेष हेलीकाप्टर में भी साथ गई थी जो उसे पंचकूला से रोहतक ले गया था.

SI News Today

Leave a Reply