Saturday, November 26, 2022
featuredउत्तर प्रदेशलखनऊ

लखनऊ के ठाकुरगंज में आतंकी को जिंदा पकड़ने की कोशिश जारी

SI News Today

लखनऊ के ठाकुरगंज के एक घर में छिपे आतंकी को पकड़ने का प्रयास जारी है। आईजी एटीएस का कहना है कि आतंकी सरेंडर करने की जगह फायरिंग कर रहा है। हमने फिलहाल के लिए फायरिंग रोक दी है।

आईजी एटीएस ने बताया कि आतंकी को पकड़ने के लिए मिर्ची बम का इस्तेमाल किया गया है, फिर भी वह बाहर नहीं आया।

इसके पहले एटीएस व आतंकियों के बीच कई राउंड फायरिंग हुई।

– आईबी व एनआईए भी मौके पर पहुंची।

– एटीएस ने मकान के अंदर आंसू गैस के गोले छोड़े।

– आतंकी व एटीएस की तरफ से लगातार जवाबी कार्रवाई जारी है। अब ‌तक कई राउंड फायरिंग की जा चुकी है।

– इलाके में फायरिंग से हड़कंप मच गई। मिली जानकारी के अनुसार फायरिंग संदिग्‍ध की तरफ से की गई।

– मामले पर एडीजी लॉ एंड ऑर्डर दलजीत चौधरी का कहना है कि ऑपरेशन जारी है।

– मिली जानकारी के अनुसार आतंकी के तार मध्य प्रदेश ब्लास्ट से जुड़े हैं। वह आईएसआईएस का आतंकी है और लखनऊ का ही रहने वाला है।

– आतंकी एक घर में छिपा हुआ है। एटीएस ने उसके कमरे में आंसू गैस के गोले छोड़े।

– लखनऊ के एयरपोर्ट व रेलवे स्टेशन पर हाई अलर्ट जारी।

04:15 PM- ठाकुरगंज इलाके में हाजी कॉलोनी के एक घर में यह आतंकी छिपा है। 20 स्पेशल कमांडो ने घर घेर लिया।
04:35 PM- ऑपरेशन के दौरान आम लोगों को घर से निकलने को मना किया गया।
04:50 PM– पुलिस आतंकी को सरेंडर करने के लिए मजबूर करने की कोशिश करती रही।
04:55 PM-– एटीएस ने टियर गैस का इस्तेमाल भी किया। लेकिन आतंकी सरेंडर को राजी नहीं हुआ।
05:10 PM– ऐसा कहा जा रहा है कि संदिग्ध आतंकी ISIS से जुड़ा है। इसका नाम सैफुल है।
05:30 PM-– बताया जा रहा है कि आतंकी ने एटीएस के कमांडोज से कहा कि वह जान दे देगा लेकिन सरेंडर नहीं करेगा।
06:15 PM-– करीब दो घंटे के एनकाउंटर के बाद दूसरी बार आतंकी के कमरे के अंदर आंसू गैस के गोले दागे गए। फायरिंग फिर तेज हुई।
06:45 PM- ATS कमांडोज की फायरिंग में संदिग्ध घायल हो गया। कमांडोज घर के अंदर दाखिल हुए।
07:05 PM- आस-पास के लोगों के मुताबिक इस मकान में 6 महीने से 4 लोग रह रहे थे। इसमें यह संदिग्ध आतंकी भी शामिल है।
07:25 PM- पड़ोसियों का कहना है कि इन्होंने खुद को स्टूडेंट बताकर मकान किराए पर लिया था।
क्या बोले एडीजी?
– एडीजी दलजीत चौधरी ने कहा- इनपुट मिला था कि कुछ संदिग्ध कानपुर और लखनऊ में छुपे हुए हैं। कानपुर के संदिग्ध को गिरफ्तार कर लिया गया है। दूसरे संदिग्ध को पुलिस ने घर में घेरा है। उसका सरेंडर कराने की कोशिश की। उसके पास हथियार बताया जा रहा है।
– एडीजी ने बताया कि यूपी एटीएस आतंकी को जिंदा पकड़ने की कोशिश में है ताकि उसके पूरे कनेक्शन का पता चल सके। फोर्स इस बात का ख्याल रख रही है कि फायरिंग में किसी नागरिक को नुकसान न पहुंचे। खुद एटीएस के आईजी मौके पर पहुंचे।
चिली बम का भी हुआ इस्तेमाल
– एटीएस के आईजी असीम अरुण ने बताया, ”ऐसी सूचना मिली थी कि यहां एक संदिग्ध व्यक्ति है। उसके पास कोई होस्टेज नहीं है, इसलिए हमारे पास समय है। हमने चिली बम का भी इस्तेमाल किया। उसने अंदर से दरवाजा बंद कर लिया। ऐस लगा कि उसके पास हथियार हैं। लेकिन वो अकेला है। हमें कोई जल्दी नहीं है। वो अब तक बाहर नहीं निकला है। रुक-रुककर फायरिंग कर रहा है। हम उसे जिंदा अरेस्ट करेंगे।”
कानपुर के संदिग्ध ने लखनऊ के बारे में दी इन्फॉर्मेशन
– कानपुर के चकेरी थाना के तिवारीपुर ताडबगिया मोहल्ले से लखनऊ एसटीएफ की टीम ने एक संदिग्ध को अरेस्ट किया। उसका नाम फैजान बताया जा रहा है।
– सूत्रों के मुताबिक, फैजान ने ही लखनऊ के एक घर में छिपे आतंकी के बारे में जानकारी दी।
कहां है ठाकुरगंज?
– जिस इलाके में एनकाउंटर चल रहा है वो रिहायशी कॉलोनी है। कॉलोनी नई है। इसलिए लोग एक-दूसरे के बारे में ज्यादा वाकिफ नहीं हैं। घर भी दूर-दूर बने हैं।
– ये लखनऊ का बॉर्डर एरिया है। यहां से हरदोई जिला शुरू हो जाता है। बदमाश इस इलाके में अपना ठिकाना बनाते रहे हैं।
कॉलोनी के लोगों ने क्या बताया?
– आस-पास के लोगों के मुताबिक इस मकान में 6 महीने से 4 लोग रह रहे थे। इसमें यह संदिग्ध आतंकी भी शामिल है।
– एटीएस जब यहां पहुंची तो एक संदिग्ध ही घर में मौजूद था। बाकी के 3 लोग यहां से निकल चुके थे।
– इनके पास कानपुर के नंबर की एक बाइक भी थी।
– पड़ोसियों का कहना है कि इन्होंने खुद को स्टूडेंट बताकर मकान किराए पर लिया था।
– मकान मलिहाबाद के रहने वाले बादशाह का है, जो खाड़ी के किसी देश में काम करते हैं।
SI News Today

Leave a Reply