Monday, March 4, 2024
featuredउत्तर प्रदेश

वायरल हो रहा,सोशल मीडिया पर-पीसीएस परीक्षा स्थगित का फेक मैसेज होगा मुकदमा

SI News Today

उप्र लोकसेवा आयोग की अहम पीसीएस परीक्षा 2017 की पूर्व संध्या पर इम्तिहान स्थगित होने का फेक मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। शरारती तत्व परीक्षार्थियों को एसएमएस के जरिये परीक्षा स्थगित होने की सूचना लगातार भेज रहे हैं। परीक्षा प्रभावित करने के उद्देश्य से भेजे जा रहे झूठे मैसेज की सूचना पर इलाहाबाद स्थित आयोग मुख्यालय में अफरातफरी मच गई। आयोग सचिव जगदीश व परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार ने मीडिया को स्पष्ट किया है कि परीक्षा रविवार को दो पालियों में तय समय पर ही होगी। फेक मैसेज भेजने वालों की पड़ताल को सर्विलांस टीमें जुटी हैं, ऐसे लोगों के विरुद्ध एफआइआर दर्ज की जाएगी।

यूपी पीएससी की पीसीएस परीक्षा रविवार को प्रदेश के 21 जिलों के 982 केंद्रों पर होना प्रस्तावित है। परीक्षा सुबह 9.30 से 11.30 व अपरान्ह में 2.30 से 4.30 बजे तक दो पालियों में होना है। आयोग इसकी तैयारियां पूरी कर चुका है और परीक्षार्थियों संबंधित जिलों में पहुंच चुके हैं। परीक्षा के ऐन मौके पर शनिवार शाम से सोशल मीडिया पर आयोग सचिव की ओर से एक कथित मैसेज वायरल हुआ, जिसमें कहा गया है कि अपरिहार्य कारणों से रविवार को होनी वाली परीक्षा स्थगित कर दी गई है। परीक्षा की नई तारीख की सूचना जल्द सूचित की जाएगी। परीक्षार्थी इसके लिए आयोग की वेबसाइट देखें। यह फेक मैसेज परीक्षार्थियों के मोबाइल पर लगातार भेजा जा रहा है। कुछ परीक्षार्थियों ने इसकी पुष्टि आयोग से की, उसके बाद से आयोग मुख्यालय में हलचल मचा मच है। मैसेज भेजने वालों को चिन्हित करने को कहा गया है। भ्रामक मैसेज भेजकर गलत प्रचार

आयोग सचिव जगदीश ने कि कुछ अराजकतत्व पीसीएस परीक्षा 2017 स्थगित होने का भ्रामक मैसेज भेजकर गलत प्रचार कर रहे हैं। परीक्षा पूर्व से निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही होगी। उन्होंने कहा कि इसकी शिकायत एसएसपी से की गई है। साथ ही यह जांच का विषय है कि आखिर पीसीएस परीक्षा के अभ्यर्थियों का मोबाइल नंबर शरारतीतत्वों तक कैसे पहुंचा। उधर, परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार ने आयोग की वेबसाइट पर भी सूचना अपलोड की है कि परीक्षा तय समय पर ही होगी।

दरअसल, आयोग की पूर्व की परीक्षाओं में पेपर लीक की हो चुकी घटनाओं को लेकर चौकन्ना है। ऐसे में पीसीएस (प्री) परीक्षा का लेकर काफी एहतियात बरता जा रहा है। अफसरों की मानें तो सर्विलांस सहित अन्य माध्यम पहले ही सक्रिय कर दिए गए हैं। आयोग की ओर से परीक्षा केंद्रों वाले संबंधित सभी जिलों के पुलिस कप्तानों से मदद मांगे जाने के बाद खुफिया टीमों ने पूर्व में पकड़े जा चुके गिरोहों की कुंडली भी खंगाली है। शहरों के होटल और अन्य संदिग्ध ठिकानों पर मुखबिरों को सक्रिय किया गया है।

आयोग परीक्षा केंद्रों के बाथरूम तक की निगरानी करा रहा है। वहां पर सशस्त्र बल तैनात करने का निर्देश दिया गया है। हर अभ्यर्थी की शत-प्रतिशत तलाशी होगी। अभ्यर्थियों को पहली बार ओएमआर शीट की डुप्लीकेट प्रति साथ ले जाने का मौका मिलेगा। बुकलेट खोलने से लेकर उसे सील करने तक वीडियोग्राफी की जाएगी। आयोग ने उन अफसर व कर्मियों को परीक्षा कार्य से दूर रखा है जिनके परिजन परीक्षा में शामिल हो रहे हैं। ट्रेजरी से प्रश्नपत्र परीक्षा केंद्र तक मजिस्ट्रेट की निगरानी में भेजे जाएंगे।

SI News Today

Leave a Reply