Friday, April 19, 2024
featuredलखनऊ

असेंबली र‍िएक्शन: मुख्तार बोले- मुझे निशाना बनाया गया

SI News Today

लखनऊ.सफाई के दौरान विधानसभा में विस्फोटक मिलने के मामले में योगी सरकार सकते है। सीएम योगी ने विधानसभा की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई है। विधानसभा में स्पीकर ने सुरक्षा को लेकर कई तरह की गाइडलाइन भी बनाई है। इन सबके बीच विरोधी नेताओं के रिएक्शन भी आने शुरु हो गए है। आगे जानिए विपक्ष के किस नेता ने क्या कहा

– विस्फोटक मिलने के बाद बीएसपी विधायक मुख्तार अंसारी ने कहा कि उन्हें निशाना बनाकर विधानसभा में विस्फोटक लाया गया था। इससे पहले भी सुरक्षा को लेकर उन्होंने सरकार को चिट्ठी लिखी है।

– कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि विधानसभा में विस्फोटक मिलना सरकार का फेल्योर है। आप सोच सकते है यूपी में लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति क्या होगी ।

– कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि हर पार्टी की सुरक्षा को लेकर बैठक हुई है,सुरक्षा एजेंसियां शोर मचाकर काम नहीं करती है।

विधानसभा में विस्फोटक मिलने के बाद क्या हुआ
विधानसभा में विस्फोटक मिलने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने सिक्युरिटी को लेकर एक हाईलेवल मीटिंग बुलाई है। अधिकारियों से पूरे मामले की जानकारी के बाद सदन में सीएम योगी ने बयान दिया।

सदन में क्या बोले योगी?
– “पूरे विधानसभा भवन को उड़ाने के लिए 500 ग्राम PETN पर्याप्त है। कौन लोग लेकर आए हैं? जनप्रतिनिधियों को विशेषाधिकार दिया गया है, तो उसका ऐसा इस्तेमाल होगा। ये बुरी स्थिति है। हम अब तक बाहर की सुरक्षा के लिए चिंतित थे। इस दौरान गुरुवार को जो चीजें सामने आईं, वो गंभीर हैं। मेरा आग्रह है कि जो इस विधानभवन में लगे कर्मचारियों का वेरिफिकेशन जरूरी है।”

– “क्या हम किसी व्यक्ति को ऐसी छूट दे सकते हैं कि 403 विधायकों की सुरक्षा से खिलवाड़ करे, पूरी विधानसभा, कर्मचारियों की सुरक्षा से खिलवाड़ करे, जो इस प्रकार की शरारत पर उतर आया है कि सुरक्षा को चुनौती दे। ये तय होना चाहिए कि हम लोग किसी एक व्यक्ति के लिए या किसी को खुश करने के लिए या तुष्टि के लिए 503 जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों-कर्मचारियों की सुरक्षा से खिलवाड़ करने की छूट नहीं दे सकते।”

– “हम सभी का सहयोग चाहते हैं। ये विस्फोटक सामान्य रूप से पता नहीं लग सकता। फिजिकली चेक करने पर ही पता चलेगा। डॉग स्क्वॉड पहुंचा तो वो भी उसकी पहचान नहीं कर पाया, लैब में पहुंचने के बाद पता लगा कि ये खतरनाक PETN विस्फोटक है। ये खतरनाक आतंकी साजिश का हिस्सा है और इसके पीछे कौन लोग हैं, इसका पता करना होगा।”

– “हम चाहते हैं कि विधानसभा के सभी कर्मचारियों को पुलिस वैरिफिकेशन हो और NIA जैसी संस्था इस मामले की जांच करे।”

– इसके साथ ही सीएम योगी ने माननीय विधायकों से आठ अपील की

1) सभी कर्मचारियों का पुलिस वेरिफिकेशन हो।
2) सिक्युरिटी के लिए नई गाइडलाइन जारी हो।
3) NIA जैसी संस्था इस मामले की जांच करे।
4) फोन अंदर लेकर ना आएं, लाएं तो साइलेंट करें।
5) बिना पास के विधानसभा में एंट्री बैन हो।
6) जिम्मेदार और जवाबदेह लोगों को सिक्युरिटी सौंपी जाए।
7) यूनीफॉर्म सिक्युरिटी सिस्टम होना चाहिए।
8) मेंबर्स सिक्युरिटी चेक में सहयोग करें।

SI News Today

Leave a Reply