Tuesday, April 16, 2024
featuredलखनऊ

इस एक्टर से 15 साल छोटी है पत्नी, कर चुके हैं भाई-बहन का रोल

SI News Today

लखनऊ. इंडस्ट्री में 30 साल गुजार चुके एक्टर अमन वर्मा अपने नए शो ‘खाकी एक वचन’ के प्रमोशन के लिए पिछले दिनों राजधानी आए थे। शो में वो एक पुलिस ऑफिसर के रोल में नजर आएंगे। बातचीत में अमन ने पर्सनल लाइफ से जुड़ी बातें शेयर की।

फैमिली वाले नहीं चाहते थे ये करे एक्ट‍िंग

– पंजाब में 11 October 1971 को जन्मे अमन ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से अपनी पढ़ाई पूरी की है। वह कहते हैं, ”मेरे पिता, मामा, नाना सभी फौज में थे, वे मुझे भी फौज में भेजना चाहते थे। मुझे किसी चीज की कमी नहीं थी, लेकिन अपनी पहचान बनाना चाहता था। इसलिए मुंबई आ गया।

– गैर फिल्मी बैक ग्राउंड के कलाकारों को वैसे भी काफी संघर्ष करना पड़ता है। काफी रिजेक्शन मिले, कुछ ऐसे रोल मिले, जो कहीं खोकर रह गए। ब्रेक मिला ‘क्यूंकि सास भी कभी बहु थी’ और ‘खुल जा सिम-सिम’ से मिला।

– मुझे आज भी वो दिन याद है, जब मैं मुबई में संघर्ष कर रहा था। मेरी जेब में एक हजार रुपए थे और घर का किराया ढाई हजार था। मेरे पास काम भी नहीं था, मन में बस यही चल रहा था कि कहीं माकन मालिक घर से न निकल दे।

– एक दिन काम की तलाश में निकला था। रास्ते में एक बच्चा जूता पॉलिश कर रहा था, उसके पास पैसे रखने के लिए डिब्बा तक नहीं था। वो पैसे कभी अपने पैर के नीचे, तो कभी साइड में पैसे दबाता। मैंने उसे एक 400 रुपए का डिब्बा खरीद कर दिया, जिसे पाकर वह खुश हो गया और मुझे दुआएं दी।

– अब उसे इत्तेफाक कहें या दुआ, कुछ ही घंटो में मेरे पास एक रोल के लिए ऑफर आया, जिसके लिए मुझे 4000 रुपए मिले।

– बता दें, अमन वर्मा स्टार प्लस के गेम शो ‘खुल जा सिम’सिम’ के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत साल 1987 में ‘पचपन खम्बे लाल दीवार’ से की थी। बाद में वो ‘शांति’, ‘समंदर’, ‘रिश्ते’, ‘CID’, ‘घराना’, ‘औरत’, ‘दुश्मन’, ‘कुमकुम’, ‘क्योंकि सास भी बहु थी’, ‘दो लफ्जों की कहानी’, ‘देवी’, ‘जस्सी जैसी कोई नहीं’, ‘कशिश’ जैसे शोज में काम कर चुके हैं।

– इसके अलावा अमन अबतक ‘संघर्ष’, ‘जानी दुश्मन’, ‘अंदाज’, ‘बागवान’, ‘बाबुल’, ‘देश द्रोही’, ‘लम्हा’ जैसी बॉलीवुड फिल्मों में भी काम कर चुके हैं।

एक एक्टर से 15 साल छोटी है वाइफ
– टीवी शो ‘शपथ'(2012-2017) में भाई-बहन का रोल करने वाले अमन और वंदना ने 14 दिसंबर 2016 को शादी की थी। अमन और वंदना के बीच 15 साल का एज गैप है।

– अमन कहते हैं, ”उम्र के बीच बड़ा फासला जरूर है, लेकिन हमारे विचार एक हैं और हम-दूसरे को अच्छी तरह समझते हैं।”

– “वंदना से शादी करके मैं खुद खुशनसीब फील कर रहा हूं। हमने दो साल एक-दूसरे को डेट किया है और इस बीच उन्होंने मुझे अच्छा इंसान बनाया है। मैं किसी के लिए नहीं बदला। लेकिन वंदना के लिए मैं पूरी तरह बदल चुका हूं।”

– वंदना कहती हैं, “हमने 2 साल तक शादी का इंतजार किया और हमें लगता है कि हम इक-दूजे के लिए परफेक्ट हैं।”

– “जब दो लोग एक-दूसरे के साथ जिंदगी बिताने का कमिटमेंट करें तो निश्चित रूप से वे शादी करने के बारे में सोचते हैं। मैं और अमन एक-दूसरे को अच्छी तरह समझते हैं।”

फिल्म बागबान में काम करना, जिंदगी का सबसे गलत फैसला
– टेलीविजन इंडस्ट्री के बारे में अमन कहते हैं, यह इंडस्ट्री बहुत बड़ा हो गया है। टेलीविजन पर अब स्टोरी टी.आर.पी के हिसाब से बनती हैं। दर्शक मक्खी, मच्छर, नागिन सब देख रहे।

– मैं अपने करियर को लेकर संतुष्ट नहीं हूं। अगर मैं किसी बड़े एक्टर के घर पैदा हुआ होता, तो शायद और आगे बढ़ने में मदद मिलती। इस फील्ड में संतुष्टि शब्द है ही नहीं। फिल्म चल गई, तो आप चल गए। फिल्म नहीं चली तो आप घर बैठ गए।

– पिछली कंट्रोवर्सीज के बारे में मैं कोई बात नहीं करना चाहता, लेकिन उस दौर में सलमान खान और गोविंदा ने मेरा बहुत साथ दिया। उन लोगों ने मुझे समझाया कि इन बातों पर ध्यान देने से अच्छा है कि करियर पर ध्यान दूं।

– हालांकि, उन विवादों का असर मेरी जिंदगी पर पड़ा और काम मिलना कम हो गया था। जो काम मिलता था, उसमें नेगेटिव रोल ज्यादा होते थे, लेकिन अब सब ठीक है।

– स्ट्रेस को दूर करने के लिए मैं जिम का भी सहारा लेता था। तनाव पसीने के रूप में बहार निकल जाता था और मैं रिलेक्स हो जाता था।

– फिल्म बागबान में काम करना मेरे करियर का सबसे गलत फैसला था। क्योंकि उस समय मेरी उम्र 30 साल थी और मैंने 45 साल के पुरुष का रोल किया था, जिसके बाद मुझे उसी एज ग्रुप के रोल मिलने लगे।

SI News Today

Leave a Reply