Wednesday, February 21, 2024
featuredलखनऊ

केजीएमयू में तमाम संविदाकर्मी बकाया वेतन की मांग को लेकर स्ट्राइक पर…

SI News Today

लखनऊ: किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी(केजीएमयू) में तमाम संविदाकर्मी बकाया वेतन की मांग को लेकर शुक्रवार को स्ट्राइक पर चले गए। सड़क पर उतरकर उन्होंने सिक्युरिटी कंपनी और केजीएमयू प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। स्ट्राइक के चलते ट्रामा सेंटर, सीवीटीएस, डेंटल और ओपीडी में काम ठप पड़ गया। इसका असर एडमिट पेशेंट पर पड़ रहा है। 100 से ज्यादा पेशेंट्स का इलाज नहीं हो पा रहा है। वहीं, संविदाकर्मियों ने मांगे पूरी किए जाने के बाद ही काम पर वापस लौटने की बात कही है। आगे पढ़िए पूरा मामला…

– संवि‍दाकर्मी राहुल शर्मा के मुताबि‍क, केजीएमयू के अंदर करीब 42 डिपार्टमेंट है। संविदा कर्मचारियों के जिम्मे साफ सफाई, मलहम पट्टी और स्ट्रेचर से वार्ड तक ले जाने की जिम्मेदारी है।

– केजीएमयू के अंदर पैंथर, मिश्रा, अरुण उदय, अवनी परिधि सिक्युरिटी समेत कुल 4-4 अलग सिक्युरिटी एजेंसी का मैन पावर की सप्लाई कर रही है। इन एजेंसियों के तहत ठेके पर 2 हजार से ज्यादा संविदाकर्मी रखे गए हैं।

– आरोप है, ”मिश्रा सिक्युरिटी एजेंसी ने उन्हें 6 महीने से सैलरी नहीं दी है। पैसे बढ़ाना का वादा किया था, लेकिन उसे आज तक नहीं पूरा किया। उल्टा धमकाया जा रहा है। खाने-पीने तक के मोहताज हो गए हैं। मजबूरी होकर स्ट्राइक करनी पड़ी।”

पत्नी के इलाज और खाने-पीने तक के नहीं है पैसे
– केजीएमयू के संविदाकर्मी रमेश शुक्ला के मुताबिक, ”डेढ़ साल पहले मिश्रा सिक्युरिटी एजेंसी ने 6 हजार की सैलरी पर रखा था। 1 साल तक तो हर महीने टाइम से सैलरी मिलती रही, लेकिन उसके बाद से हर महीने लेट में मिलने लगी। अभी 6 महीने की सैलरी बकाया हो गई।”

– ”कुछ पैसे बचे थे, जो बच्चों की फीस में खर्च हो गए। पत्नी की तबियत खराब है। इलाज कराना है। घर में कुछ खाने पीने को भी नहीं बचा है। दोस्तों से 1 हजार रु. उधार मांगे थे, लेकिन उन्होंने देने से मना कर दिया।”

क्या कहना है सिक्युरिटी एजेंसी का?
– मिश्रा सिक्युरिटी एजेंसी के मालिक सुदेश मिश्रा का कहना है, ”इस महीने किसी वजह से संविदाकर्मियों को सैलरी देने में थोड़ा सा डिले हुआ है। बातचीत की जा रही है। उनके बकाए वेतन का जल्द भुगतान कराया जाएगा।”

– केजीएमयू के सीएमएस डॉ. एसएन संखवार ठेका कंपनी मिश्रा सिक्युरिटी के संचालक सुदेश मिश्रा को वीसी ऑफिस बुलाया गया है। बातचीत के बाद संविदाकर्मियों के हित में जो भी जरुरी कदम होंगे वे उठाए जाएंगे।

KGMU में एक्स VC रविकांत के टाइम भी हुआ था प्रोटेस्ट
– बता दें, केजीएमयू में एक्स वीसी प्रो- रविकांत के टाइम 2016 -17 में ठेका कर्मचारी एक बार पहले भी बकाया वेतन को लेकर प्रोटेस्ट आर चुके हैं ।

– उस वक्त संविदाकर्मियों ने केजीएमयू के एक्स रजिस्ट्रार उमेश मिश्रा का उनके ऑफिस के अंदर घेराव किया था। इसके बाद एक्स रजिस्ट्रार ने मिश्रा सिक्युरिटी एजेंसी संचालक सुदेश मिश्रा को बुलाकर फटकार लगाई थी।

– उन्होंने संविदा कर्मचारियों का शीघ्र वेतन भुगतान करने का निर्देश दिया था। तब जाकर संविदा कर्मचारियों की बकाया सैलरी का भुगतान हो पाया था।

इन हाॅस्पिटलों में भी हो चुका है प्रोटेस्ट
– बलरामपुर, सिविल और लोहिया हाॅस्पिटल में भी संविदा कर्मचारी अलग-अलग डिपार्टमेंट में काम करते हैं।

– इन हाॅस्पिटलों में एसएस सिक्युरिटी , पवन सिक्युरिटी , आरएस सिक्युरिटी सहित कई अन्य एजेंसी मैंन पावर सप्लाई का काम करती है।

– सैलरी को लेकर इन हाॅस्पिटलों में भी संविदा कर्मचारी कई बार पहले भी प्रोटेस्ट कर चुके हैं।

SI News Today

Leave a Reply