Saturday, February 24, 2024
featuredलखनऊ

30 म‍िनट की मीटिंग के बाद शिवपाल ने ठुकराया मुलायम का प्रस्ताव…

SI News Today

लखनऊ: समाजवादी पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन 5 अक्टूबर को आगरा में होने वाला है। इससे ठीक पहले शिवपाल यादव बुधवार को मुलायम से मिलने पहुंचे। सूत्रों के मुताबिक, दोनों के बीच करीब 30 म‍िनट बातचीत हुई। नेता जी ने शिवपाल को अधिवेशन में जाने को कहा, लेकिन उन्होंने साफ इनकार कर दिया। साथ ही, लोहिया ट्रस्ट से भी इस्तीफे की पेशकश कर दी। बताया जा रहा है कि शिवपाल मुलायम के अधि‍वेशन में शामिल होने की चर्चाओं से नाराज हैं।

मुलायम ने आगरा चलने को कहा, शिवपाल ने किया मना
– सूत्रों के मुताबिक, मुलायम ने बुधवार को शिवपाल अपने आवास पर बुलाया था। नेता जी ने शिवपाल से अधिवेशन में चलने को कहा, लेकिन उन्होंने मना कर दिया। कहा जा रहा है कि नाराजगी की वजह से लोहिया ट्रस्ट से भी उन्होंने इस्तीफे की पेशकश की है।

– मुलायम चाहते हैं कि शिवपाल की पार्टी में सम्मान से वापसी हो। इसके लिए वो अखि‍लेश से बात भी कर चुके हैं।

– मुलायम ने मीटिंग में शिवपाल को बताया कि अगर उनकी पार्टी में वापसी होती है तो उन्हें महासचिव बनाया जाएगा और वह दिल्ली में पार्टी का काम देखेंगे। लेकिन शिवपाल ने इस प्रस्ताव को भी नकार दिया।

– इससे पहले इटावा में गांधी जयंती पर पार्टी ने रैली निकाली थी, लेकिन शिवपाल इसमें भी शामिल नहीं हुए। जबकि शि‍वपाल पिछले 7 साल से इस रैली में शामिल होते आए हैं।

JDU ज्वाइन कर सकते हैं शिवपाल
– वहीं, राजनीतिक गलियारों में ये भी चर्चा है कि सपा में खत्म होती हैसियत को देखते हुए शि‍वपाल जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) का दामन थाम सकते हैं। उन्हें यूपी में प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी मिल सकती है।

– सूत्रों के मुताबिक, जेडीयू ज्वाइन करने के लिए वो नीतीश कुमार के संपर्क में हैं। अगर मुलायम से उनकी बात नहीं बनती तो वो जल्द ये फैसला ले सकते हैं।

– जेडीयू केंद्र सरकार के घटक दलों में से एक है। ऐसे में उन्हें सत्ता का फायदा भी मिल सकता है।

नई पार्टी का एलान करना था, ऐन वक्त पर पलटे मुलायम
– बता दें, 25 सितंबर को मुलायम सिंह यादव ने प्रेस कांफ्रेंस की थी। इसमें उन्हें समाजवादी पार्टी से अलग होकर नई पार्टी बनाने का एलान करना था, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में नई पार्टी बनाने वाले प्रेस नोट को पढ़ा ही नहीं। इसके उलट उन्होंने कहा कि मैं कोई नई पार्टी नहीं बना रहा हूं। इससे पहले खबरें आई थीं कि मुलायम अखिल भारतीय समाजवादी पार्टी का एलान कर सकते हैं।

– बता दें कि समाजवादी पार्टी में फूट के बाद दो गुट बन गए थे। एक गुट मुलायम और उनके छोटे भाई शिवपाल यादव का है, तो दूसरा गुट अखिलेश और मुलायम के चचेरे भाई रामगोपाल यादव का है।

15 महीने से चल रहा है यादव परिवार में झगड़ा
– करीब डेढ़ साल से यादव परिवार में कलह चल रही है। अखिलेश और रामगोपाल एक तरफ हैं तो शिवपाल और मुलायम दूसरी तरफ।

– मुलायम शिवपाल के साथ खड़े दिखते हैं। लेकिन जानकारों का कहना है कि कहीं ना कहीं यह विवाद मुलायम की शह पर ही बढ़ता चला गया।

– कुछ दिनों पहले ही शिवपाल के कहने के बावजूद मुलायम ने नई पार्टी बनाने का एलान नहीं किया था। बताया जाता है कि इसके बाद से ही शिवपाल अलग मोर्चा या पार्टी बनाने की तैयारी कर रहे हैं।

SI News Today

Leave a Reply