Wednesday, February 21, 2024
featuredउत्तर प्रदेशक्राइम न्यूज़गोरखपुर

योगी राज में प्रदेश का बुरा हाल, छात्राओं की सुरक्षा हेतु करना पड़ा विद्यालय बंद

SI News Today

Yogi Raj bad situation in the state, to protect girl students principal closed the school.

        

भले ही सरकार लड़कियों को सुरक्षा देने के लिए लाख वादे क्यों ना कर रहा हो लेकिन फिर भी प्रदेश में लड़कियों के छेड़-छाड़ का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है. वहीं इस बार यह ताज़ा मामला मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गढ़ गोरखपुर का है जहां के तिलोरा इलाके के एक स्कूल को सिर्फ इसलिए बंद करना पड़ा क्योंकि कुछ लफंगों ने छात्राओं का स्कूल आना-जाना दूभर कर कर रखा था.

वहीं जब छात्राओं के साथ छेड़खानी का मामला बढ़ने लगा तब प्रिंसिपल ने उन लफंगे लड़को को समझने की कोशिश की. लेकिन लफंगें लड़कों ने बात समझने की जगह उल्टा स्कूल के लिपिक और शिक्षकों के साथ मारपीट की. जिसके बाद प्रिंसिपल ने डर के मारे स्कूल बंद करने का नोटिस चिपका दिया.

      गोरखपुर में छेड़खानी करने वाले शोहदों का आतंक, इंटर कॉलेज बंद

सहजनवां के तिलौरा स्थित पंडित जवाहरलाल नेहरू इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल कैलाश चौबे ने थाने में शिकायत की थी और स्कूल बंद करने का फैसला लिया था, वहीं इसकी जानकारी मिलने के बाद पुलिस अफसर भी बेचैन हो गए. एसएसपी ने एसपी नार्थ रोहित सिंह को पूरे प्रकरण की जांच सौंपते हुए मौके पर भेजा था. एसपी नार्थ के पहुंचने के बाद पुलिस ने दो आरोपियों को हिरासत में ले लिया.

एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि नामजद आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो मामला मारपीट का सामने आया है. छेड़खानी का जिक्र तहरीर में भी नहीं किया गया है. वहीं , स्कूल प्रबंधन का कहना है कि वह किसी छात्रा का नाम सामने लाकर उसे बदनाम नहीं करना चाहते हैं, इस लिए छेड़खानी का जिक्र नहीं किया गया था.

एसएसपी ने बताया कि,  आरोपी बनाए गए नीरज की तहरीर पर भी केस दर्ज कर लिया गया है. मामले की जांच चल रही है.

क्या है मामला?

प्रिंसिपल कैलाश चौबे ने सात सितंबर को सहजनवां थाने में शिकायत की थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई थी. बृहस्पतिवार को 11वीं की एक छात्रा के साथ छेड़खानी का भी मामला सामने आया. छात्रा ने स्कूल पहुंच कर प्रधानाचार्य से शिकायत की. प्रिंसिपल और शिक्षकों ने स्कूल में ही पढ़ने वाले आरोपी छात्रों को बुलाकर समझाने की कोशिश की तो वे मारपीट पर उतारू हो गए थे।

छुट्टी के बाद घर जा रहे स्कूल के शिक्षक बृजेंद्र कुमार मिश्र और रामअशीष चौरसिया को घघसरा बाजार में धमकी भी दी गई. शुक्रवार को स्कूल में तैनात मानदेय लिपिक अमित कुमार दुबे किसी काम से बनौली से लौट रहे थे कि तभी लड़कों ने रास्ते में उन्हें घेरकर पीट दिया था.

SI News Today

Leave a Reply