Friday, April 12, 2024
featuredदुनिया

अफगानिस्तान पर अमेरिका का हमला भारत के लिए भी राहत, जानिए वजह ?

SI News Today

अमेरिका द्वारा अफगानिस्तान पर गिराए गए बम में केरल के एक शख्स की भी मौत हुई है। जिस शख्स की मौत की बात कही जा रही है उसका नाम टी के मुर्शीद मोहम्मद है। उसपर आतंकी संगठन आईएस में शामिल होने का आरोप था। कहा जा रहा है कि वह उस जगह पर ही तैनात था जहां सबसे बड़ा गैर परमाणु बम गिराया गया। माना जा रहा है कि मोहम्मद की मौत ‘मदर ऑफ ऑल बम’ के गिरने से ही हुई है। खबरों के मुताबिक, हमले में खुरासान मॉड्यूल के आतंकी मारे गए हैं। इस हमले में सैकड़ों आईएस आतंकियों समेत 20 भारतीय आतंकी मारे गए। खुरासान मॉड्यूल के जरिए ही आतंकवादी संगठन आईएस भारत समेत एशिया के बड़े हिस्से पर अपना कब्जा करना चाहता है।

यूएस ने गुरुवार (13 अप्रैल) को अफगानिस्तान पर GBU-43 बम गिराया था। अमेरिका ने कहा था कि वह बम आईएस पर निशाना बनाते हुए गिराया गया था। अमेरिका के मुताबिक, आईएस के लड़ाके जिन सुरंगों में छिपते थे उनको निशाना बनाया गया था। बम का वजन 9,797 किलो बताया गया।

मोहम्मद की मौत की जानकारी केरल में रहने वाले उसके परिवार ने दी। परिवार के मुताबिक, उनको अफगान से एक मैसेज आया था। जिसमें लिखा था कि उनका बेटा हमले में ‘शहीद’ हो गया है। परिवार ने बताया कि टेलिग्राम के जरिए उन लोगों को मैसेज मिला। लेकिन उसके सच होने का कोई प्रमाण मौजूद नहीं है।

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक, परिवार ने पुलिस को भी वह मैसेज दिखाया था। मोहम्मद ने सीए की पढ़ाई की थी। उसके बाद वह अबु धाबी गया था फिर 2016 के जून में उसका फोन आया। फोन पर उसने अपनी मां को कहा कि वह कभी केरल वापस नहीं आएगा।

दो महीने हमले पहले केरल का ही हफीजुद्दीन नाम का शख्स भी अफगान में हुए ड्रोन हमले में मारा गया था। बता दें कि केरल में रहने वाले 21 लोगों पर आईएस में शामिल होने का शक है। जिसमें तीन बच्चे और चार महिलाएं भी शामिल हैं।

SI News Today

Leave a Reply