Saturday, May 25, 2024
featuredदुनिया

कुलभूषण जाधव को छुड़ाने के लिए भारत ने करवाया पाकिस्तान के एक्स आर्मी अफसर का अपहरण-पाक अधिकारियों का दावा

SI News Today

पाकिस्तान के सुरक्षा अधिकारियों ने मंगलवार को भारत पर पूर्व पाकिस्तानी आर्मी अधिकारी को पकड़ने का आरोप लगाया। पाकिस्तानी अधिकारियों ने कहा कि पाक के सेवानिवृत्त अधिकारी को भारतीय खुफिया एजेंसी के लोगों की ओर से नौकरी का लालच देकर नेपाल बुलाया गया और अपहरण कर लिया गया। अधिकारियों के मुताबिक भारतीय एजेंटों ने लेफ्टिनेंट कर्नल मोहम्मद हबीब को 6 अप्रैल को नेपाल आने के बाद अपहरण किया। उन्होंने आोरप लगाया कि हबीब का अपहरण भारत ने इसलिए किया कि ताकि वह कथित जासूसी के आरोप में पाकिस्तान में फांसी की सजा पाए पूर्व नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव को छोड़ने का दबाव डाल सके। भारत को उम्मीद है कि वह जाधव की रिहाई को सुरक्षित करने के लिए इसका इस्तेमाल कर सकता है। जाधव को जासूसी के आरोप में पाकिस्तान में 10 अप्रैल को फांसी की सजा सुनाई गई थी।

दोनों अधिकारियों में से एक ने नाम सामने न लाने की शर्त पर बताया कि रिकॉर्ड बताते हैं कि 6 अप्रैल को हबीब काठमांडू एयरपोर्ट पहुंचे थे। एक भारतीय नागरिक उन्हें रिसीव करने के बाद होटल लेकर गया। दूसरे अधिकारी ने कहा कि हबीब के अपहरण की योजना भारत की खुफिया एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसीस (RAW) ने बनाई थी। पाक अधिकारियों का कहना है कि जाधव को पाकिस्तान में आतंकवाद के कृत्यों में 1,345 लोगों की मृत्यु से जोड़ा गया है। उन्होंने एपी से कहा कि जाधव ने 2001 में भारतीय नेवल इंटेलीजेंस ज्वाइन किया और बाद में जाधव को इरान में पोस्ट किया गया। इस दौरान 2016 में गिरफ्तार होने से पहले जाधव ने फर्जी दस्तावेजों के जरिए खुफिया यात्राएं की।

पाक अधिकारियों का दावा है कि पूछताछ के दौरान जाधव ने जासूसी और आतंकी गतिविधियों में शामिल रहने की बात कबूली है। जाधव को सैन्य अपील अदालत में अपील करने या दया के लिए सेना प्रमुख को याचिका देने का अधिकार है। संविधान के तहत, पाकिस्तान के राष्ट्रपति जाधव को क्षमा कर सकते हैं। गौरतलब है कि कुलभूषण जाधव को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच के रिश्तों में कड़वाहट आ गई है। पाकिस्तान सेना ने एक बार फिर कुलभूषण जाधव को काउंसलर एक्सेस देने से इनकार कर दिया है। पाक सेना के प्रक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने इस पर कहा है कि जाधव के मसले पर कोई समझौता नहीं हो सकता। कुलभूषण पाक विरोधी गतिविधियों में शामिल था, इसलिए हम जाधव तक राजनयिक पहुंच नहीं दे सकते।

SI News Today

Leave a Reply