Wednesday, April 17, 2024
featuredदुनिया

पाकिस्तानी रेस्तरां को पहली बार मिले वेट्रेस रोबोट

SI News Today

पाकिस्तान के मुल्तान में एक पिज्जा रेस्तरां इन दिनों खासा मशहूर हो रहा है। दरअसल इस रेस्तरां के मशहूर होने की वजह यहां मानव वेट्रेस की जगह रोबोट वेट्रेस का इस्तेमाल का किया जाना है। खबरों की माने तो सूफों दरगाह, आम के बगीचे और हस्तशिल्प कला के लिए मशहूर मुल्तान में रोबोट वेट्रेस का इस्तेमाल पूरे पाकिस्तान में ये अपनी तरह का पहला मामला है। यहां राबिया, एनी और जेनी रोबोट रेस्तरां में आने वाले ग्राहकों का स्वागत करते हैं और पिज्जा ऑर्डर के लिए रेस्तरां के मालिक ओसामा जाफरी के पास ले जाते हैं, जिनका कहना है कि उन्होंने बिजनेस में बढ़ोतरी के लिए इसे शुरू किया है। पहली बार रोबोट रेस्तरां में जाने वाले 12 साल के ओसामा अहमद ने एएफपी को बताया, ‘हम बहुत सारे रेस्तरां में जा चुके हैं लेकिन मेरे अंकल कहते हैं कि इस रेस्तरां में वेट्रेस रोबोट हैं और वही पिज्जा सर्व करते हैं। जब रोबोट हमें पिज्जा देने आया तब हमें बहुत अच्छा लगा।’

वहीं दूसरे कसटमर हामिद बशीर का कहना है कि रोबोट द्वारा ऑर्डर लेने पर बहुत अच्छा लगता है साथ ही इससे बच्चों का अच्छा मनोरंजन होता है। ओसामा जाफरी कहते हैं कि चीन के रोबोट वेट्रेस से प्रभावित होकर उन्होंने अपने रेस्तरां में वेट्रेस रोबोट लाने की निर्णय लिया। इस्लामाबाद की नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी से इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले 24 साल के जाफरी ने बताया कि उन्होंने परिवार से सहयोग मिलने पर इस तरह की योजना पर काम करने की सोची जहां रोबोट वेट्रेस हों। जाफरी आगे कहते हैं कि रोबोट निर्माण में स्थानीय मशीनरी की मदद ली गई है, जिसमें करीब 6 लाख रुपए (6,000 डॉलर) का खर्च आया है।

SI News Today

Leave a Reply