Saturday, November 26, 2022
featuredदेश

भोपाल उज्जैन पैसेंजर ब्लास्ट:मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा-IS ने कराया था ट्रेन में बम विस्फोट

SI News Today

भोपाल। मध्यप्रदेश के शाजापुर जिले के जबड़ी स्टेशन के पास भोपाल उज्जैन पैसेंजर की एक बोगी में मंगलवार को सुबह बम विस्फोट के जरिए हमला आईएसआईएस से जुड़े आतंकवादियों ने किया था और इस मामले में तीन आरोपियों को होशंगाबाद जिले के पिपरिया से गिरफ्तार किया गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य विधानसभा में बुधवार को इस संबंध में एक वक्तव्य दिया।
पाइप बम से किया धमाका
वक्तव्य के बाद विधानसभा परिसर में संवाददाताओं से चर्चा में चौहान ने बताया कि तीनों आरोपी पुष्पक एक्सप्रेस से सुबह साढ़े सात बजे लखनऊ से भोपाल पहुंचे और उन्होंने भोपाल उज्जैन पैजेंसर में बम रखा। चौहान ने कहा कि पाइप बम और टाइमर के जरिए ट्रेन की बोगी में विस्फोट किया गया, जिसमें दस यात्री घायल हो गए। दो यात्रियों को गंभीर और शेष आठ को मामूली चोट पहुंची है। चौहान ने बताया कि बम विस्फोट की घटना के बाद राज्य पुलिस, आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) तथा खुफिया तंत्र तत्काल सक्रिय हुआ और केंद्रीय खुफिया एजेंसियों से प्राप्त सूचनाओं के आधार पर आगे की कार्रवाई सुनिश्चित की गयी। इस बीच सूचनाओं के आधार पर होशंगाबाद जिले के पिपरिया से तीनों आरोपियों को गिरफ्त में लिया गया। आरोपियों ने घटनास्थल के फोटो अपने हैंडलर को सोशल मीडिया के जरिए अपलोड भी किए। ये आरोपी घटना को अंजाम देने के बाद भोपाल से पिपरिया और इलाहाबाद होते हुए वापस लखनऊ जाना चाहते थे। उन्होंने कहा कि यह सुनियोजित आतंकवादी हमला था आईएसआईएस की विचारधारा से प्रभावित होकर इसे अंजाम दिया गया।
साथियों संग बड़ी घटना की फिराक में था सैफुल्ला
लखनऊ। सैफुल्ला के ठिकाने से मिले हथियारों के जखीरे से साफ है कि वह अपने साथियों के साथ बड़ी आतंकी घटनाओं को अंजाम देने की फिराक में था। राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) दलजीत चौधरी ने बुधवार को बताया कि मूल रूप से कानपुर निवासी स्वयंभू आतंकी सैफुल्ला अपने चार साथियों के साथ हाजी कालोनी में किराए के मकान में रह रहा था। ये लोग यहां आतंकी संगठन आईएसआईएस से प्रभावित होकर सोशल मीडिया के माध्यम से बम बनाने और उनको लगाकर विस्फोट करने की जानकारी हासिल कर रहे थे। एटीएस द्वारा गिरफ्तार किए गये सैफुल्ला के साथियों से बरामद लैपटॉप से महत्वपूर्ण जानकारी मिली हैं। उन्होंने बताया कि सैफुल्ला अपने साथियों को यहां बम बनाने का प्रशिक्षण भी देता था। वह आतंकी संगठन आईएसआईएस से प्रभावित होकर आतंकी घटनाओं को अंजाम देने के लिए अन्य लोगों को अपने साथ सोशल मीडिया के माध्यम से जोड़ रहे थे। ये लोग आतंकी घटनाओं को अंजाम देने के बाद खुरासन के नाम से अपनी अलग पहचान बनाना चाहते थे,  लेकिन कल मध्यप्रदेश में बम विस्फोट की घटना के बाद उनकी योजना का पर्दाफाश हो गया और उसके साथी पकड़े गए।

SI News Today

Leave a Reply