Tuesday, May 28, 2024
featuredबिहार

बिहार मॉब लिचिंग: सीतामढ़ी में युवक की हुई पीट-पीटकर हत्या

SI News Today

Bihar mob lynching : Youth killed by beatings in Sitamarhi

   

बिहार में मॉब लिंचिंग का मामला थमने का नाम ही नही ले रहा है। दरअसल एक बार फिर से बिहार में मॉब लिंचिंग का मामला सामने आया है। जहां भीड़ ने एक बेगुनाह युवक को बिना कुछ सोचे समझे ही पीट-पीटकर मार डाला। इस मामले में पुलिस की लापरवाही सबसे ज्यादा सामने आई है। फिलहाल पुलिस ने 150 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

दरअसल जिस युवक की भीड़ ने पीट-पीट कर हत्या कर दी है वह अपनी दादी की बरसी के लिए सामान लेने सीतामढ़ी जा रहा था। आपको बता दे कि यह पूरी घटना सीतामढ़ी की है। वहीं युवक की पहचान सहियारा थाना क्षेत्र के सिगंहरीया गांव निवासी रूपेश कुमार झा पुत्र के भूषण झा के रूप में हुई है। बहरहाल रूपेश के चाचा सुनिल कुमार झा का कहना है कि कल उनकी मां का बरसी है जिसके चलते ही उनका भतीजा सामान खरीदने अपने दोस्त के साथ सीतामढ़ी शहर जा रहा था। तभी अचानक रास्ते में पिकअप वाले से साइड को लेकर विवाद होने लगा। जिसके पश्चात जैसे ही पिकअप चालक ने शोर मचाना शुरू किया वैसे ही वहां भीड़ इकट्ठा हो गई और उस युवक को पकड़कर बिना कुछ सोचे समझे लोगों ने उसकी पिटाई करना शुरू कर दिया।

गौरतलब है कि युवक की लाठी डंडों से जमकर पिटाई की गई जिसके दौरान वो चीख़ता रहा चल्लाता रहा और लोग उसे पीटते रहे। इथना ही नही उस भीड़ में छोटे छोटे बच्चे भी दिख रहे थे। वहीं दूसरी ओर सुशासन पर सवाल उठाते हुए परिजनों का कहना है कि वो घर के काम से सीतामढ़ी जा रहा था और ग्रामीणों ने पीट-पीटकर उसे बहुत बुरी तरह से जख्मी कर दिया। जिसके पश्चात रीगा पुलिस मौके पर पहुंचकर युवक को इलाज के लिए सदर अस्पताल भेज दी। जहां उसकी गंभीर स्थिति देखकर परिजन उसे शहर के प्रसिद्ध चिकित्सक डॉक्टर वरूण कुमार के क्लिनिक पर ले गए पर  डॉ. वरुण ने उसकी बेहद खराब स्थिति देखते ही मान उसे पीएमसीएच में रेफर कर दिया। जहां देर रात लगभग 11 बजे उसकी मौत हो गई।

वहीं इस मामले में ग्रामीणों का कहना है कि पिकअप में अवैध समान ले जाया जा रहा था। जिसकी वजह से पिकअप चालक ने शोर मचाकर बेगुनाह युवक की हत्या करा दी। हालांकि इस घटना के बाद शव का पोस्टमार्टम भी नही हुआ। जहां एक तरफ इस मामले में परिजनों का कहना है कि जब शव को मुखाग्नि दी जा चुकी थी तो पुलिस वहां पर पहुंची। तो वहीं दूसरी तरफ पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज नहीं करने को लेकर परिजनों से एक पत्र भी लिखवा लिया है। बता दे कि परिजनों का कहना है कि उन्हें इंसाफ चाहिए।

SI News Today

Leave a Reply