Friday, February 23, 2024
featuredउत्तर प्रदेशलखनऊ

यूपी के घर-घर “पंडित दीनदयाल” पहुंचाएगी, बीजेपी ने बनाया बड़ा प्लान

SI News Today

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत तमाम भाजपा नेताओं के मुंह से आपने पंडित दीनदयाल उपाध्याय की तारीफ कई बार सुनी होगी। उपाध्याय राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और भारतीय जनसंघ के प्रमुख विचारों में एक थे। पीएम मोदी भी उनके चिंतन-वचन को अपने प्रेरणा बता चुके हैं। 2017 उपाध्याय का शताब्दी वर्ष है इसलिए भाजपा ने उत्तर प्रदेश में घर-घर जाकर उपाध्याय के विचारों को पहुंचाने का संकल्प किया है और इसके लिए उपाध्याय की जयंती 25 सितंबर तक कई विशेष कार्यक्रम भी करेगी।
उपाध्याय का जन्म 25 सिंतबर 1916 को मथुरा में हुआ था। 11 फरवरी 1968 को उनका मुगलसराय में सदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गयी थी। इकोनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार भाजपा ने उपाध्याय के शताब्दी वर्ष में कई गैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ) को सम्मानित करने का फैसला किया है। यूपी भाजपा के प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने ईटी से कहा कि पार्टी गरीबों और वंचितों के हित के लिए उपाध्याय जी के विचारों के अनुकूल काम करने वाले एनजीओ को चिह्नित कर उन्हें सम्मानित करेगी। त्रिपाठी के अनुसार इस पूरी कवायत का एक मकसद युवाओं को भाजपा से जोड़ना भी है।
भाजपा युवाओं के लिए पंडित दीनदयाल खेल उत्सव का आयोजन करेगी। पार्टी ने युवा कला संगम के आयोजन का भी फैसला किया है जिसमें कलाकार, अभिनेता, लेखक इत्यादि आएंगे। भाजपा 14 अगस्त को पूरे प्रदेश में रक्तदान शिविर का आयोजन करेगी। पार्टी प्रदेश के सभी 1.47 लाख मतदान केंद्रों पर वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन कराएगी। ईटी की रिपोर्ट के अनुसार भाजपा 10 मई से “मेरा घर, भाजपा का घर” कार्यक्रम शुरू करने वाली है जिसमें 15 दिनों तक पार्टी के 20 हजार कार्यकर्ता आम मतदाताओं के घर-घर जाकर उन्हें पार्टी का सदस्य बनाएंगे।
भाजपा की आधिकारिक वेबसाइट पर दी गयी जानकारी के अनुसार उपाध्याय 1953 से 1968 तक भारतीय जनसंघ के नेता रहे थे। पार्टी वेबसाइट के अनुसार उपाध्याय 1937 से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में शामिल हुए थे। एकात्म मानववाद और अंत्योदय के उनके सिद्धांत को पार्टी अपनी प्रेरणा मानती है। 1968 में जब उपाध्याय का आकस्मिक निधन हुआ तो वो भारतीय जनसंघ के अध्यक्ष थे।

SI News Today

Leave a Reply