Saturday, May 25, 2024
आज़मगढ़

राष्ट्रपति के ओएसडी बने आजमगढ़ के डा. कन्हैया

SI News Today

आजमगढ़। जनपद के महराजगंज ब्लॉक में स्थित महेशपुर गांव के भूतपूर्व बीपीएम सीताराम त्रिपाठी एवं श्रीमती प्रेमा त्रिपाठी के सुपुत्र डॉ. कन्हैया त्रिपाठी को भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अपना विशेष कर्तव्य अधिकारी-ओएसडी नियुक्त किया है। यह डॉ. त्रिपाठी के परिवार एवं जनपदवासियों के लिए बहुत ही हर्ष एवं गौरव का विषय है। कन्हैया त्रिपाठी ने महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय वर्धा के अहिंसा एवं शांति अध्ययन विभाग से एमए, एम फिल एवं पीएचडी की उपाधि प्राप्त की है। शुरुआती दिनों से ही डॉ. त्रिपाठी अकादमिक दुनिया में काफ ी सक्रिय रहे हैं। उनकी अब तक डेढ़ दर्जन से अधिक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। जिनमें सतह से शिखर तक भारत के राष्ट्रपति, आदिवासी समाज एवं मानवाधिकार, हिन्द स्वराज अहिंसक क्रान्ति का दस्तावेज, भारतीय मानवाधिकार आंदोलन कुछ नई पहल, विश्व आतंकवाद और शांति, हिन्द स्वराज शताब्दी विमर्श:संपादित, डॉ. राममनोहर लोहिया और सतत समाजवाद, संपादित स्त्री उत्कर्ष की ओर, संपादित भारत जगाओ, प्र्राइज इंडिया, भारत जगवा,संपादित, हिंदी, अंग्रेजी, मराठी, 13 खंड। इसके अलावा जब मैं राज्यपाल थी, दो खंड आदि पुस्तकें शामिल हैं। डॉ. कन्हैया त्रिपाठी को नेशनल ह्यूमन राइट कमीशन जैसे प्रतिष्ठित संस्था के साथ कई राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय पुरस्कारों से भी सम्मानित किया जा चुका है। इसके पहले श्री त्रिपाठी महामहिम प्रतिभा देवीसिंह पाटील के साथ कई वर्षों तक राष्ट्रपति भवन में संपादक के पद पर कार्य कर चुके हैं। इस बीच वह डॉ. हरीसिंह गौर केंद्रीय विश्वविद्यालय, सागर में सहायक निदेशक ,प्रोफेसर के पद कार्यरत थे। फि लहाल उन्हें भारत के राष्ट्रपति श्री प्रणब मुखर्जी जी ने विशेष कत्र्तव्य अधिकारी पद पर नियुक्त किया है। निश्चित रूप से यह किसी भी जनपद के लिए गौरव की बात है। उनकी इस उपलब्धि पर उनका परिवार एवं जनपदवासी उन्हें बधाई देने के साथ-साथ गौरवान्वित है। इस सफ लता पर श्री त्रिपाठी के मित्र एवं वरिष्ठ पत्रकार अरविन्द कुमार सिंह, आशुतोष द्विवेदी, राजेश मिश्र और उपेन्द्र सिंह ने बधाई दी है।

SI News Today
Manish Pandey
the authorManish Pandey

Leave a Reply