Wednesday, February 21, 2024
आज़मगढ़

वृद्घा के दो हत्यारोपी गिरफ्तार

????????????????????????????????????
SI News Today

आजमगढ़। वृद्घा के दो हत्यारोपी गिरफ्तार कर लिये गये। गिरफ्तार किये गये लोगों में हत्यारोपी का बेटा भी शामिल है। पुलिस गिरफ्त में गिरफ्तार लोगों ने अपना गुनाह कबूल भी कर लिया। यह सच उजागर हुआ कि फोर लेन सड़क के लिए अहिग्रहित जमीन के मुआवजे के लिए यह हत्या की गयी है। ऐसी स्थिति में पुलिस ने गिरफ्तार किये गये लोगों को सुसंगत धाराओं में जेल भेज दिया।

गंभीरपुर थाना क्षेत्र के कोहरौड़ा गांव में बीते एक मई की देर रात गोली मारकर 80 वर्षीया वृद्घा सहोदरा देवी पत्नी स्व. त्रिवेणी यादव की हत्या कर दी गयी थी। यह घटना उस वक्त घटी थी जब वह वृद्घा भोजनोपरान्त सो रही थी।
इसी दौरान कुछ लोग पहुंचे और सो रही इस वृद्घा के ऊपर फायर झोंक दिया था। गोली की आवाज सुनकर परिजन व आस-पास के लोग जाग गये थे। वह लोग बाहर आकर देखे तो वह खून से लहूलुहान बेसुध पड़ी हुई थी। लोगों के आने के पहले ही हमलावर फरार हो गये थे। इस मामले में वृद्घा के नाती बलवन्त यादव पुत्र हरिश्चन्द यादव की ओर से मृतका के पुत्र समेत चार लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज करायी गयी है। नामजद किये गये लोगों में मृतका का पुत्र वंशराज यादव पुत्र त्रिवेणी यादव, मृतका का पौत्र मनोज यादव पुत्र वंशराज यादव, कोहड़ौरा गांव के ही विनय पाण्डेय पुत्र जगरनाथ पाण्डेय एवं आजमगढ़ शहर कोतवाली क्षेत्र के आहोपट्टïी गांव निवासी रविन्द्र यादव पुत्र अज्ञात शामिल रहे। पुलिस नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिये हर संभव प्रयास में जुटी हुई थी। इसी दौरान पुलिस को जरिये मुखबिर पता चला कि नामजद किया गया हत्यारोपी बेटा वंशराज यादव एवं उसके गांव का ही विनय पाण्डेय पुत्र जगरनाथ पाण्डेय फरिहां तिराहे पर मौजूद हैं। इस सूचना के बाद थानाध्यक्ष गंभीरपुर मंजय सिंह ने अपने हमराहियों के साथ घेराबंदी करके इन दा नामजद आरोपियों को दबोच लिया। पुलिस गिरफ्त में उन आरोपियों ने यह कबूल कर लिया कि सहोदरा देवी को फोनलेन में गयी जमीन के एवज में मिले ७७ लाख रूपये मुआवजा के लालच में गोली मारी गयी थी। पुलिस ने गिरफ्तार किये गये वंशराज यादव के पास से तीन सौ रूपये व विनय पाण्डेय के पास से दो सौ रूपये बरामद किया। पुलिस कप्तान ने गुरूवार को पत्रकारों के बीच गिरफ्तार आरोपियों को पेश करते हुये इस घटना का खुलासा किया। इन्हें गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में गंभीरपुर थाना प्रभारी मंजय सिंह के अलावा उपनिरीक्षक अखिलेश चन्द्र पाण्डेय, सिपाही विजेन्द्र कुमार सिंह, संतोष सिंह व हरेन्द्र प्रसाद शामिल रहे।

SI News Today
Manish Pandey
the authorManish Pandey

Leave a Reply