Sunday, February 5, 2023
Uncategorized

रहना है चुस्त और तंदुरुस्त तो रोजाना करे व्यायाम

SI News Today

नियमित कसरत से सोचने, सीखने और फैसला करने की कुशलता तेज होती है और यह स्थिति ज्यादा उम्र तक बनी रहती है. इस तरह नियमित व्यायाम से 24 खतरों को दूर किया जा सकता है. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल ने कहा, “वैज्ञानिक शोध में यह बात सामने आई है  कि जो लोग नियमित रूप से कसरत करते हैं, वे शारीरिक और मानसिक रूप से ज्यादा सेहतमंद होते हैं, उनमें ज्यादा ऊर्जा, सोचने की स्पष्टता होती है और नींद बेहतर आती है.

नियमित रूप से सामान्य से सख्त कसरत करने से कोरनरी दिल के रोग और इस्केमिक और हेमोरेजिक स्ट्रोक का खतरा कम होता है. इसके अलावा कैंसर की रोकथाम और इलाज में शारीरिक कसरत और खतरा कम होने के सीधे संबंध के अनेक प्रमाण मिले हैं.”

डॉ. अग्रवाल कहते हैं, “मानसिक स्वास्थ्य के नजरिए से भी कसरत अवसाद का खतरा कम करता है. शोध में यह भी पता चला है कि एरोबिक्स या मिले-जुले एरोबिक्स और मांसपेशियों को मजबूत करने वाली कसरतें सप्ताह में तीन से पांच बार 30 से 60 मिनट तक प्रतिदिन करने से मानसिक स्वास्थ्य में काफी लाभ होता है.”

इन बातों पर करें गौर : –
-18 से 65 साल के सेहतमंद वयस्क प्रत्येक सप्ताह 150 मिनट की सामान्य कसरत करें, जिसमें 30 मिनट की चुस्त सैर सप्ताह में पांच दिन शामिल है.

– जोगिंग जैसी ज्यादा मेहनत वाली कसरत सप्ताह में तीन दिन 20 मिनट करनी चाहिए.

– सेहतमंद वयस्कों को सप्ताह में दो बार स्ट्रेंथ ट्रेनिंग करनी चाहिए, जो शरीर की प्रमुख मांसपेशियों पर केंद्रित होनी चाहिए.

– उम्रदराज लोगों में कसरत संतुलन और लचक बनाए रखने में मदद करती है.

– जो लोग कसरत करते हैं, उन्हें मध्यम उम्र या उम्रदराज होने पर शरीरिक गतिविधियां जारी रखनी चाहिए.

– धूम्रपान न करना और सेहतमंद खानपान बेहद अहम है.

 

SI News Today

Leave a Reply