Saturday, February 24, 2024
featuredदुनिया

सब्जार अहमद: जानिए, एक नाकाम प्रेमी के खूंखार आतंकी बनने की कहानी

SI News Today

हिजबुल कमांडर सबजार अहमद को जम्मू कश्मीर में शनिवार (27 मई) को हुए एनकाउंटर में मार गिराया गया। बुहरान वानी के मारे जाने के बाद सबजार को हिजबुल मुजाहिद्दीन का टॉप कमांडर बनाया गया था। उसे दक्षिण कश्मीर के त्राल में हुए एनकाउंर में मारा गया। बुरहान वानी के मारे जाने के बाद सबजार को हिजबुल मुजाहिद्दीन का टॉप कमांडर का मुखिया बनाया गया। उसको ‘सब डॉन’ के नाम से भी जाना जाता था। सोशल मीडिया पर संगठन की ओर से आने वाले कई वीडियोज और फोटोज में बजार को देखा गया।

सबजार को कश्मीर में A++ केटेगरी का आतंकी माना जाता था। सबजार बुहरान वानी का खास था। दोनों को बचपन का दोस्त बताया जाता है। बजार पिछले दो सालों से बुरहान के साथ मिलकर आतंकी संगठन में काम कर रहा था। बताया जाता है कि वह एक लड़की से प्यार करता था लेकिन उस लड़की के घर वाले शादी के लिए तैयार नहीं हुए जिसके बाद वह आतंकी संगठन में शामिल हो गया।

खबरों के मुताबिक, मार्च 2017 को त्राल में हुए एनकाउंटर में बजार भी फंसा हुआ था। लेकिन रात के अंधेरे और पत्थरबाजों की ‘मदद’ से वह वहां से भाग निकलने में कामयाब हो गया। कहा जाता है कि सबजार ने कई पंच, सरपंच और सुरक्षा जवानों की जान ली। वह उन कश्मीरी लोगों को भी मार देता था जिनपर उसको भारतीय सेना के जासूस होने का शक होता था।

27 मई को रामपुर सेक्टर में भी एनकाउंटर हुआ। उसमें छह आतंकी मारे गए। मिली जानकारी के मुताबिक, वे घुसपैठ की कोशिश में थे।

SI News Today

Leave a Reply